HOW TO

Fix all Sleeping Problems at Night in Hindi – Natural Home Remedies

Sleeping

क्या आप जानते हैं कि हम अपनी ज़िंदगी का एक तिहाई हिस्सा सोते हुए व्यतीत करते हैं? इसलिए, यह कोई आश्चर्य नहीं है कि हमारी नींद की गुणवत्ता, साथ ही साथ सोने की स्थिति, हमारे समग्र स्वास्थ्य पर बहुत प्रभाव डालती है।

शीर्ष विशेषज्ञों के कुछ सुझाव यहां दिए गए हैं कि कैसे सही तरीके से सोए जाने से आप स्वास्थ्य संबंधी सभी समस्याओं (Remedies for Sleeping Problems) को ठीक कर सकते है:

1. कंधे का दर्द 

यदि आप अक्सर कंधे में दर्द का अनुभव करते हैं, तो एक तरफ सोते रहने से बचें, खासकर जो कंधे पर दर्द है उस तरफ पलट कर ना सोए। इस सुझाव का यह अर्थ नहीं कि आप पेट के बल सोए। क्यो कि ऐसे सोने में कंधे की गलत स्थिति हो सकती है।

सबसे अच्छी नींद की स्थिति में पीठ के बल लेट कर सिर के नीचे एक पतली तकिया रख कर सोना है। कंधे को स्थिर स्थिति में रखने के लिए, आप पेट पर एक और तकिया रख सकते है और इसे गले लगा कर सो सकते है।

अगर पीठ पर सोना भी आपके लिए काम नहीं करता है, तो उस तरफ पक्ष कर के सोए जिस काढ़े में दर्द ना हो। अपने एक पैर को छाती की ओर ले आओ और घुटनों के बीच एक तकिया डाल दो।

2. पीठ दर्द 

पीठ दर्द के मामले में रीढ़ की सामान्य धाराओं को अत्यंत महत्व दिया जाता है।

पीठ के बल लेट कर, घुटनों के नीचे एक तकिया के साथ सोना आपके पीठ के दर्द को ठीक करने के लिए सबसे अच्छी स्थिति है। क्योंकि यह रीढ़ की हड्डी के घटता को प्राकृतिक तरिके से बहाल करने में मदद करता है। यदि आप पेट के बल सोना पसंद करते हैं, तो पेट और श्रोणि के नीचे एक तकिया रखें।

अंत में, यदि आपको एक पक्ष करके सोने की आदत है, तो भ्रूण की स्थिति ले लो। पैरों को छाती की ओर ले आओ और पीठ को स्वाभाविक रूप से धनुषाकार की स्तिथि में रखो। घुटनों के बीच एक छोटी तकिया रखना भी फायदेमंद है।

3. गर्दन दर्द 

गर्दन के दर्द के मामले में, सिर के नीचे एक तकिया के साथ पीठ के बल सोना और दूसरा तकिया बाजुओं के नीचे रखना सबसे अच्छा विकल्प है।

यदि आप एक पक्ष करके सोने की आदत है, तो सुनिश्चित करें कि तकिया बहुत ज्यादा मोटा ना हो। गर्दन को उचित स्थिति में रखने के लिए तकिये की ऊंचाई कंधे की ऊंचाई से मेल खानी चाहिए।

यदि आप पेट के बल सोना पसंद करते हैं, तो एक पतली तकिया का उपयोग करें। हालांकि, पेट के बल सोना आपके लिए उचित नहीं है क्योंकि यह गर्दन पर दबाव डालती है।

4. नींद ना आना

फोन और कंप्यूटर से उत्सर्जित होने वाला प्रकाश नींद-वेक चक्र पर असर (Causes of Sleep Disorders) डालता है। इसलिए सोते समय से पहले इनका इस्तमाल ना करे। इसके अलावा, सोते समय कम से कम छह घंटे पहले कॉफी, काली चाय, चॉकलेट और सोडा पीने से बचें। अंततः, सुबह और दोपहर में व्यायाम करने से शरीर को परिसंचरण में सुधार और अच्छी नींद में भी सुधार (ways to Help you Sleep) होता है।

5. बार बार नींद खुलना

यदि आप अक्सर रात के मध्य में नींद से जगते हैं तो सोने से पहले फोन और कंप्यूटर के उपयोग से बचे और सोने से पहले शराब सेवन से भी बचे। कमरे के तापमान को 20-22 डिग्री सेल्सियस पर भी रखें।

6. नींद ना खुलना

लांकि यह समस्या हल करना काफी मुश्किल है। आपको बस इतना करना है कि हर दिन एक ही समय के लिए अलार्म सेट करें, यहां तक कि सप्ताहांत पर भी। अगर आप जल्दी उठना चाहते हैं तो शाम को सोएं।

7. खर्राटों

जो लोग खर्राटे लेते हैं वे पीठ के बल सोने से बचना चाहिए। क्योंकि इस स्थिति में सोने से गले के ऊतकों को शिथिलता मिलती है जिससे वायुमार्ग तंग होजाता है। एक पक्ष या एक तरफ सो जाइये, क्योंकि इस से आपका सिर प्राकृतिक स्थिति में रहेगा और वायुमार्ग में हवा का प्रवाह भी नहीं बिगाड़ पाएगा।

8. पैरों के दर्द

पैरों के दर्द को अचानक ऐंठन या जांघों, बछड़ों और पैरों में मांसपेशियों को कसने के रूप में महसूस किया जाता है। नाइटचरल लेग ऐंठन (Nocturnal leg cramps) आम तौर पर किसी भी तंत्रिका क्षति, बीमारी या खनिज की कमी से संबंधित है। पैर की ऐंठन को ठीक करने का एक अच्छा तरीका पैरों की मालिश करने या सोने से पहले योग करना है। ऐसा करने से मांसपेशियों को फैलाव मिलता है।

Comment here